Justification & Regeneration – हिन्दी

Justification & Regeneration – हिन्दी

हिन्दी – What does the Bible mean when it says that Christians have died to sin? How is it possible for a just God to justify the ungodly without becoming unjust Himself? What is regeneration? What is justific...

एक मनुष्य ईश्वर के समक्ष कैसे सही हो सकता है?

एक मनुष्य ईश्वर के समक्ष कैसे सही हो सकता है?

पहली नज़र में यह प्रश्न बहुतों को ऊट पटांग लगेगा | आख़िरकार, क्या परमेश्वर प्रत्येक को क्षमा नहीं करता और ग्रहण नहीं करता? क्या प्रत्येक परमेश्वर के समक्ष "सही" नहीं है?

यीशु मसीह में परमेश्वर का प्रेम

7:12

यीशु मसीह में परमेश्वर का प्रेम

परमेश्वर का क्रोध अवर्णनीय है, लेकिन यीशु मसीह के द्वारा प्रदर्शित उनका प्रेम और भी वर्णन से बहार है |

सुसमाचार की प्राथमिकता

1:14:52

सच्चे मसीही का बदला हुआ नया स्वभाव – भाग २

54:50

सच्चे मसीही का बदला हुआ नया स्वभाव – सत्र १ और २

1:14:03

मसीह के पुनरुत्थान का अर्थ – भाग २

58:23

पुनरुत्थान का अर्थ

1:19:23

मसीह का क्रूश

54:30

सभी पिता परमेश्वर की महिमा से दूर हो गए हैं

1:03:34

सब ने पाप किया है

1:14:55